Har Ki Pauri

Currently Closed
  • Address: Haridwar, India
  • Timings: 05:00 am - 07:00 pm Details
  • Tags: Temple

About Har Ki Pauri, Haridwar

No place is more fun and relaxing than Har Ki Pauri in the beautiful city of Haridwar. TripHobo will give you all the information needed to plan your outing here.

But first understand how to reach Har Ki Pauri. You can do so by checking the nearest railway and bus stations near the place.

Har Ki Pauri Information

Before you leave for the Har Ki Pauri, Haridwar make sure you have all the things sorted out. Browse through the gallery of images, take note of the timings, tickets required, also check the location on the map provided above. You are also informed about the approximate time required to explore the Har Ki Pauri so you can decide the schedule for the day. Need to know more? You can call on the number given on this page.

If you have been to Har Ki Pauri before and think that some information is missing, you can contribute to the page and make it better for the future users.

With plenty of places to visit in the Haridwar, make sure you grab a bite at the nearby restaurants serving delicious desserts, coffees or some special delicacies of the India. And if want to treat yourself to a special experience, you can also try some international cuisines!

If you are the sort who plans down to the last detail, you will get all the required information right here. All the important sights like the nearest banks and ATMs, internet cafes, pharmacies and the local tourist information centre are available here. When it comes to transportation, gas stations and parking spots are at your disposal. Also listed are the public transport options like bus stations and railway stations near Har Ki Pauri.

Accommodation Near Har Ki Pauri

Want to stay close-by? You can always book an accommodation near Har Ki Pauri, Haridwar from TripHobo. Select from Airbnb’s, budget/luxury hotels suitable for families, or a hostel if you are a backpacker. We also have a number of other websites that you can choose from. You can compare rates of different accommodations, so you get the best deal to control the cost of your trip. Before booking check their rating so you know you have selected the best option. You can also search by hotel name if you have already decided on the accommodation. To make your day hassle free book a tour for Har Ki Pauri online.

When you create your itinerary with the help of Haridwar itinerary planner you will get to know the modes of transport you can use to reach your destination from the hotel you have selected or from other place of interest.

You can also browse through Haridwar trip plans created by TripHobo experts or its users to get an idea of the kind of vacation you should plan for.

If you plan to visit nearby cities as well, use the India trip planner to create a fully customized, multi-city trip plan! For other exciting activities, check out best things to do in Haridwar.

If you have been to Har Ki Pauri, feel free to contribute to the above with respect to images, address, contact number and ticket prices, to help your fellow travellers.

TripHobo Highlights for Har Ki Pauri

Are you associated with this business? Get in Touch

Things to Know Before Visiting Har Ki Pauri

  • 54.16% of people who visit Haridwar include Har Ki Pauri in their plan

  • 30.67% of people start their Har Ki Pauri visit around 11 AM - 12 PM

  • People usually take around 30 Minutes to see Har Ki Pauri

Tuesday, Wednesday and Saturday

95% of people prefer to travel by car while visiting Har Ki Pauri

People normally club together Hari Ki Pauri and Hotel Ginger while planning their visit to Har Ki Pauri.

* The facts given above are based on traveler data on TripHobo and might vary from the actual figures

Har Ki Pauri Map

Enable Map

Har Ki Pauri Trips

Har Ki Pauri, Haridwar Reviews

Google+
  • संघ के एक बड़े नेता है...इंद्रेश कुमार जी जिन्हें संघ अंतर-पांथिक और अंतर्धार्मिक संवाद के लिये नियुक्त करता है, डॉक्टर भीम राव अम्बेडकर की १२५ वीं जयंती के अवसर पर उन्हें दिल्ली के हंसराज महाविद्यालय में आमंत्रित किया गया था. *संघ के नेता का नाम सुनते ही वहां का माहौल और भी विषाक्त हो गया था....* 🤔🤔🤔🤔 संघ, ब्राहमणवाद और मनुवाद के खिलाफ नारे लगने लगे थे. हरेक वक्ता आता ....और सिर्फ जहर उगलता. *एक ने कह दिया कि “वी डोंट एक्सेप्ट रामा एस ए सिम्बल ऑफ़ सोशल हार्मोनी“ यानि हम राम को सामजिक समरसता का प्रतीक नहीं मानते .....क्योंकि उस आर्य राम ने अनार्य बालि का छिपकर वध किया था,* जब इन्द्रेश कुमार जी की (संघ प्रतिनिधि की) बारी आई तो उन्होंने माइक संभाला और इसी विषय से बोलना शुरू किया. उन्होने कहा कि *मान लीजिये कि बालि अनार्य था तो फिर सुग्रीव क्या था?* 👉🏼 *वो भी अनार्य था....दो अनार्य भाइयों के बीच किसी गलतफहमी के चलते झगड़ा था, झगड़े में बड़े भाई ने छोटे भाई को न सिर्फ मृत्यदंड की सजा दी थी... बल्कि उसकी पत्नी को बलात अपने कब्जे में कर रखा था और उसके डर से सुग्रीव मारा-मारा फिर रहा था. त्रिलोक के अंदर बालि के भय से किसी के अंदर ये साहस नहीं था कि वो सुग्रीव को न्याय दिला सके. राम ने सुग्रीव को न्याय दिलाने का संकल्प किया. बालि का वध किया.* 🤔🤔🤔🤔 *अब ...।बालि के वध के बाद आर्य राम ने क्या किया?* 👉🏼राम ने राज्य पर स्वयं कब्ज़ा नहीं किया बल्कि उस पर उसी अनार्य सुग्रीव को प्रतिष्ठित किया. 👉🏼सुग्रीव की पत्नी रुमा को मुक्त कराकर राम ने उसे अपने अधीन नहीं किया बल्कि उसे ससम्मान सुग्रीव को सौंप दिया. 👉🏼बालि के परिजनों के साथ भी अन्याय न हो इसलिये राम ने उसकी पत्नी तारा को राज्य की मुख्य पटरानी के पद पर सुशोभित किया और प्रधान सेनापति के पद पर उसके बेटे अंगद को बिठाया. *उस राम को आप... सवर्ण कहिये, क्षत्रिय कहिये, मनुवादी कहिये ....या जो भी कहिये पर सत्य यही है कि राम ने राज्य पर कब्ज़ा नहीं किया, राज्य की किसी संपत्ति को अपने उपयोग में नहीं लिया, रूमा या तारा को प्रताड़ित नहीं किया और न ही बालि के बेटे के साथ अन्याय होने दिया. राम आपके लिये सवर्ण, क्षत्रिय या मनुवादी होंगें पर दुनिया के लिये राम न्याय की मूर्ति थे.* इसके बाद उन्होंने श्रोताओं से मुखातिब होकर कहा कि *...अगर बालि अनार्य थे तो फिर हनुमान क्या थे?*🤔🤔 👉🏼 वो भी अनार्य थे, अब आप सब मुझे बतायें कि आपके अनुसार भारतवर्ष का कौन सा ऐसा आर्य है जिसके यहाँ देवता रूप में हनुमान पूजित नहीं हैं?... 👉🏼हाँ, खुद को अनार्य कहने वाले इन साहब के यहाँ ही हनुमान पूजित नहीं होंगे. उन्होंने बोलना ख़त्म किया तो पूरी सभा-मंडली उनके पीछे थी, अब वहां उन दलित नेताओं के नाम के नारे नहीं बल्कि उनके नाम के जयकारे लग रहे थे. आयोजक उनसे कह रहे थे कि ये भीड़ आपके बोलने से पहले हमारी थी अब आपकी है. सन्देश यही है, *वंचित समाज से जुड़िये, उनके पास जाइये, उनसे दर्द सांझा करिए, उन्हें सत्य का ज्ञान कराइए. उनके अंदर सदियों से सिर्फ जहर और अलगाव ही भरा गया है. उनके अंदर की किसी शंका का समाधान करने उनके पास हमसे पहले ईसा वाले और इस्लाम वाले पहुँच जाते हैं। ये विष-बेल और न बढ़े इसकी जिम्मेदारी हमारी है.* 👉🏼👉🏼उनको बताइए कि हमारे हिन्दू समाज में जातियों का भेद नहीं था, 🤔लैंगिक असमानताएं नहीं थी. 🤔 समाज के निचली पायदान पर बैठी शबरी माता के जूठे बेर खाने वाले श्रीराम के सखाओं में वानर वीर सुग्रीव थे तो निषाद राज केवट भी थे, *हमारे महान सनातनी वैदिक सर्वहिन्दू समाज ओर हिंदुस्तान पर दुर्भाग्य की काली छाया उस दिन से पड़नी आरंभ हुई, जब विस्तारवाद की आकांक्षा वाले मजहबों का यहाँ पर पदार्पण हुआ, फिर अंग्रेजों ने हमारे धर्मग्रंथों सहित हमारे संस्कृति, हमारे संस्कारों का माखोल बनाना शुरू किया ओर रही सही कसर अंग्रेजों के जाने के बाद "ना हिन्दू, ना किसी ओर मजहब के" वस्तुतः रक्त मिश्रित - वर्णसंकर नस्ल की वंशवादी रीत सत्ता पर हावी हो गई। और इस घोर दुर्भाग्य का अंत भी तभी होगा। जब हम इन विस्तारवादियो, सत्तास्वार्थी वर्णसंकरोंं की चाल में नहीं आयें।* *धर्म जागरण में अपना वास्तविक सकारात्मक सहयोग करें ।।* 🚩🚩जय श्री राम🚩🚩

  • Congested ... Yet has a serene beauty of its own.. with the Ganges gently washing the ghat and the melodious Aarati.. an almost out of the world experience..

  • It's a lovely place with lots of spritual and eternal peace. Which gives you immense pleasure and happiness from inside and outside.

  • Watching Ganga Aarti is a complete bliss. The divinity of the place is such that one can't get their eyes off. Touches your soul and calms your mind. Chaotic yet brilliantly peaceful!

  • Best religious place. Please visit you feel really very calm and relax here

Read all reviews

All Questions

Har ki pauri
    Simply click on Ask a Question to add question