Govind Dev Ji Temple, Jaipur

Govind Dev Ji Temple, Jaipur - Address, Phone Number

Address: Shanti Niketan Colony, Tonk Phatak, Jaipur, Rajasthan 302015

Phone: +91-9924563892

Show on map

Time Required: 00:30 Mins

Timings: 05:00 am - 09:00 pm Details

Added 7.8K times in trip plans

Religious Site, Temple, Family And Kids

Try TripHobo to create your itinerary

Are you associated with this business? Get in touch

About Govind Dev Ji Temple, Jaipur

Considered to be one of the most sacred temples in Jaipur, Govind Deviji Temple is much revered by Hindu devotees. Located inside the City Palace complex, this temple exudes spiritual faith and Hindu belief. Devoted to Lord Shri Krishna, this temple houses that idol of him which he exhibited during his incarnation on earth. As you enter inside the premises of this temple, you shall be left awe struck with this idol’s magnificence and beauty. If you wish to see the temple in full splendour, visit it during the festival of Janmashtami when it is thoroughly decorated with lights and flowers.

Govind Dev Ji Temple Information

  • Follow the Hindu rituals while entering the temple.

Govind Dev Ji Temple Ticket Prices

  • Entry is free.

Govind Dev Ji Temple Opening and Closing Hours

  • Timings are subject to change in different seasons.
  • For detailed time schedule, refer the website.

How To reach Govind Dev Ji Temple by Public Transport

  • By Bus stop: Gattewale Mandir Bus stop.

Love this? Explore the entire list of things to do in Jaipur before you plan your trip.

Fancy a good night's sleep after a tiring day? Check out where to stay in Jaipur and book an accommodation of your choice.

Govind Dev Ji Temple, Jaipur Reviews - Write a Review

user-pics
Google+
  • श्री गोविंद देवजी मंदिर किसी परिचय का मोहताज नहीं है क्योंकि यह सबसे प्रसिद्ध और पवित्र स्थानों में से एक है। अपनी भव्यता और हिंदू पौराणिक कथाओं के प्रतीक इस मंदिर को देखने दुनिया भर से भक्त यहां आते हैं। सिटी पैलेस, जहां महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय ने सर्वोच्च सम्मान पाया, अब वहां एक मंदिर है। यह मंदिर भगवान कृष्ण को समर्पित है और जयपुर शहर के शाही युग का सुंदर प्रतीक भी है। खूबसूरत बागों से घिरे इस मंदिर की आंतरिक सज्जा शानदार यूरोपीय शैली के झूमरों और भारतीय संस्कृति और कला का प्रदर्शन करते चित्रों से की गई है। मंदिर की छत चमकदार सोने से सजाई गई है। इस मंदिर में स्थित गोविंद देवजी की मूर्ति को भगवान कृष्ण की सबसे सुंदर और आकर्षक प्रतिमा माना जाता है। मंदिर सुबह पांच बजे आरती और मधुर भजनों के साथ भक्तोें के लिए खुलता है। प्रसाद और भक्ति गीतों के साथ हर दिन मूर्ति की पूजा होती है और दिन भर में सात बार यह भजन गाए जाते हैं। यह मंदिर हमेशा भक्तों से भरा होता है और नियमित रुप से 5000 भक्त यहां आते हैं, साथ ही भगवान कृष्ण के जन्मदिन जन्माष्टमी पर यहां की छटा निराली ही होती है। यह त्यौहार बहुत भव्य तौर पर उत्साह और उमंग से मनाया जाता है। इतिहास गोविंद देवजी मंदिर भारत के सबसे दिव्य और शानदार मंदिरों में से एक है। जयपुर शहर को इस मंदिर के यहां होने का काफी गौरव है। श्री कृष्ण भक्तों में वृंदावन के बाद यह सबसे ज्यादा देखा जाने वाला मंदिर है। मिथकों के अनुसार एक बार महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय को सपना आया जिसमें भगवान कृष्ण ने उनसे उनके महल को मुगल बादशाह औरंगजेब के विनाश से बचाने के लिए किले में उनकी मूर्ति स्थापित करने को कहा। महाराजा सवाई जय सिंह तब वृंदावन से मूर्ति लेकर आए जो पहले सूर्य महल में रखी गई बाद में चंद्र महल में स्थानांतरित की गई। ऐसा माना जाता है कि यह मूर्ति धरती पर अवतार के दौरान भगवान कृष्ण का प्रतिरुप है। मिथकों से यह भी पता चलता है कि भगवान कृष्ण के पौत्र वज्रनभ ने इस मूर्ति को 5000 साल पहले बनाया था। जब वज्रनभ 13 साल के थे तो उन्होंने अपनी दादी से पूछा कि भगवान कृष्ण कैसे दिखते थे। जो वर्णन उन्होंने दिया उसे सुनकर उन्होंने भगवान की छवि बनाने की कोशिश की पर दो बार असफल हुए। तीसरी कोशिश में उन्होंने बिलकुल वैसी मूर्ति बनाई जिसका वर्णन सुना था। उस मूर्ति का नाम तब वज्रकृति पड़ा यानि वज्र की रचना।  स्थान श्री गोविंद देवजी मंदिर सिटी महल परिसर में बादल महल और चंद्र महल के बीच स्थित है। आप मंदिर तक आॅटो रिक्शा, टैक्सी या लोकल बस से पहुंच सकते हैं। यात्रा करने का उत्तम समय राजस्थान का रेगिस्तानी शहर जयपुर हर साल देश और दुनिया से हजारों सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करता है। रेगिस्तानी इलाके से नजदीकी के कारण यहां की जलवायु कठोर है और गर्मियों में बहुत गर्म हो जाती है। मार्च से जून का महीने, जब तापमान 45 डिग्री तक पहुंच जाता है, यहां यात्रा करने का सबसे अच्छा समय नहीं है। मानसून जुलाई से शुरु होकर सितंबर तक रहता है और यह भी गर्मी से निजात नहीं दिलाता क्योंकि जयपुर में ज्यादा बारिश नहीं होती। थोड़ी बारिश होने के कारण यहां उमस भी बहुत बढ़ जाती है जिससे इस शहर में घूमना बहुत मुश्किल हो जाता है। इस शानदार शहर को घूमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक का होता है। इस दौरान यहां सूरज की तपिश बहुत कम होती है और तापमान 20-22 डिग्री रहता है। इस समय यहां रातें बहुत ठंडी होती हैं और तापमान पांच डिग्री तक गिर जाता है और दिन सुहावने हो जाते हैं। ऐसे समय में इस विरासत की सुंदरता समेटे शहर में यादगार समय बिताया जा सकता है।

    Read more
  • Devotional place with many temples suitable for prayer and dharshan. Time of opening of temple is fixed with 2 timings morning and evening. There is a very large garden to hangout and for rest and also for. The place is very neat and clean but there is no staff for any kind of assistance.

  • Radha Krishna temple. Very beautiful and spread in vast area. Meditation and morning walk, good for everything.

  • Govind ji main diety was made by hands of Lord Krishna's grandson as he enquired his mother how his grandfather looked like. It's a very powerful temple. Timings one can easily check on website or Facebook page

  • Govind devji mandir is the pride of jaipur city, till now it is well maintained , the temple is spread in very large area having very big lawns, play area for children, people also come here to do morning walk, the laddoo theri give as prasad is also very tasty. This is the best place to vidit in jaipur.

Read all reviews
0